SEO क्या है और कैसे करते है- What is SEO | Types of SEO 2021

seo kya hai kaise karte hai in hindi 2021

SEO यानि Search Engine Optimization अगर आप डिजिटल मार्केटिंग से Belong नहीं करते है तो आपके लिए ये 3 वर्ड SEO काफी पहेली की तरह हो सकता है | हो सकता है अपने इसके बारे में कई बार सुना या पढ़ा हो लेकिन फिर भी SEO kya hai और ये कैसे काम करता है कुछ समझ न आया हो तो Don’t Worry !!


इस आर्टिकल को पढने के साथ-साथ न सिर्फ आप SEO kya hai aur kaise kaam karta hai ये समझ जाओगे बल्कि आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग के लिए SEO कैसे करना है ये भी सिख जाओगे | ये ब्लॉग SEO, types of Search Engine Optimization, How to do SEO step by step ( हिंदी में) से लेकर आल इन वन SEO Guide for Begginers होने वाला है |

SEO क्या होता है हिंदी में समझे?

SEO जिसका Full Form Search Engine Optimization होता है – इसके नाम में ही इसका meaning छुपा हुआ है .

Search Engine यानि (Google, Bing, Yahoo etc. ) का optimization मतलब अपने वेबसाइट के content को Search Engine के according फुल Potential तक पहुचना |

दुसरे शब्दों में कहा जाये तो किसी वेबसाइट को Search Engine तक किसी particular search query या keywords (जो हम google पर जाके सर्च करते है ) के लिए पहुचाने की activity को SEO कहते है | यानि Search Engine Optimization के द्वारा आपके वेबसाइट की रैंकिंग को किसी keyword के लिए google या अन्य सर्च इंजन मे सबसे उपर रैंक कराया जा सकता है |

Still, Confused?? इसे एक उदहारण से समझते है – मान लेते है आप सर्च कर रहे है “Blog कैसे बनाये” तो इस कीवर्ड के लिए Google Search Engine में जो results आपको सबसे ऊपर दिखाई दे रहे है वो SEO की वजह से ही दिखाई दे रहे है | Google की तरफ से SEO पूरी तरह से फ्री होता है लेकिन इसके लिए SEO Comapany आपसे चार्ज करती है क्योकि वो activity जो आपके वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए जरुरी है वो ये SEO या Digital Marketing Agency आपको करके देती है |

इसका मतलब ये बिलकुल भी नहीं है की आप अपने वेबसाइट के लिए SEO खुद से नही कर सकते | आप खुद से SEO सिखकर अपने Blog, Website तथा Business को एक नयी उचाईयों तक ले जा सकते है |

SEO कैसे काम करता है/ SEO kaise Karte hai ?

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन SEO कैसे काम करता है ये समझने के लिए सबसे पहले ये जानना होगा की Google या अन्य Search Engine (Bing, Yahoo) सर्च results हमतक कैसे पहुचाते है ? क्योकि जब हम सर्च इंजन को समझ लेते है तब हमे इसे ऑप्टिमाइज़ कैसे करना है ये समझ आसानी से आ जाता है |

Search Engine कैसे काम करता है ?

गूगल तथा अन्य सर्च इंजन Mianly 4 steps में काम करते है :

  1. Crawling – Search Engine के Bots के द्वारा इन्टरनेट पर available सभी pages को Crawl करके उससे जो भी information मिलता है उसे Read किया जाता है |
  2. Indexing – इसमें सर्च इंजन bots सभी web pages को अपने database में Indexing के लिए डालते है |
  3. Retrieval- इस Process में Google के Next Algorithms काम करते है जो ये decide करते है कि कौनसी website किस keywords के लिए कहा Stand करती है |
  4. Ranking – At last ये सर्च bots हमें हमारी की हुई query यानि की search के लिए result SERP (search engine result page) पर दिखाते है |

ये सभी Process सेकंड्स के कुछ भाग मे पूरी हो जाती है इसलिए हमे सर्च करते ही result मिल जाता है |

चलिये जानते है search engine optimization कैसे काम करता है और इससे Google के first page पर रैंकिंग कैसे हो सकती है?

Google अपने algorithms के अन्दर more than 200+ Ranking Factors रखता है जिसके द्वारा वो किसी भी वेबसाइट को रैंक करता है | SEO के अंतर्गत हम basically उन्ही Ranking Factors पर काम करते है जिससे Google के bots के लिए अच्छे content की वेबसाइट को अपने SERP पर दिखाना आसान हो जाये |

Google का focus basically अपने users को Better quality result देना होता है इसलिए वो किसी भी वेबसाइट के content की quality को सबसे उपर रखता है | इसका मतलब ये भी है अगर आपके वेबसाइट पर quality content है तो आपकी वेबसाइट बिना SEO के भी टॉप में रैंक कर सकता है |

Why SEO is Important (SEO क्यों जरुरी है)?

Search Engine Optimization के द्वारा जो भी रैंकिंग हमे मिलती है Totally फ्री यानि organic ranking होती है जिसके द्वारा कितने भी visiters हमारी website पर क्यू न आये हमे उसके लिए इक पैसा भी Google या किसी भी सर्च इंजन को Pay नहीं करना पड़ता है |

SEO Web पर ट्रैफिक का सबसे बड़े फ्री सोर्स है जिसके कारन कोई भी business काफी फ़ास्ट Grow कर सकता है |

SEO क्यों जरुरी है ये एक Example से समझते है ?

मान लेते है की आपकी एक Shoes की वेबसाइट है और उसमे भी आप सिर्फ Men के लिए casual Shoes मे Deal करते है | और आप अपने वेबसाइट के लिए Men’s casual Shoes keyword पर सबसे पहले नंबर पर रैंक कर रहे है –

According to Google Keyword Planner – 10K – 100K monthly visiters इस keywords को सर्च करते है | जिसमे एक study से पता चला है की 33% click first position वाले वेबसाइट को मिलता है | यानि की अगर monthly एक average 50k भी लेते है तो उसका 33% यानि 16500 visiters हर month आपके वेबसाइट पर सिर्फ एक कीवर्ड से आ रहे है |

अगर आप एक जूते की बिक्री पर RS.50 भी earn करते है और 16500 visiters का अगर 5% भी sale मे कन्वर्ट हो जाते है तो आपकी sale (825*50= 41250) वो भी सिर्फ एक कीवर्ड के रैंक करने से हो सकती है | कई cases में ये डाटा और भी ज्यादा हो जाता है |

I think अब आपको ये समझ आ गया होगा की seo क्यों जरूरी है किसी भी वेबसाइट के लिए | SEO का सबसे बड़ा फायदा ये है की यहाँ सिर्फ आपको वही visiters मिलते है जो actually उस चीज़ को सर्च कर रहे होते है टी इससे आपके business के सक्सेस होने के chances और भी बढ़ जाते है |

SEO के प्रकार (Types of SEO in Hindi)

SEO के अंतर्गत काफी सारे रैंकिंग terms आते है तो अपनी वेबसाइट तथा उसके content को उसके according ऑप्टिमाइज़ करना उतना ही जरुरी हो जाता है | SEO के अन्दर कई तरह से targeting किया जाता है जैसे : Image search, local search, video search, text search etc.

SEO 3 प्रकार के होते है : Onpage SEO, Technical SEO और Offpage SEO. इस ब्लॉग हम Step by Step जानेंगे की Search Engine Optimization का process क्या है |

1. Onpage SEO –

Onpage SEO में हम अपनी वेबसाइट के content को ऑप्टिमाइज़ करते है | Onpage SEO इसका पूरा control हमारे हाथ मे रहता है इसलिए इसमें results भी हमे साथ के साथ ही दिख जाता है | Onpage SEO को हम 4 भागों में बाट कर समझ सकते है |

Content Optimization – Onpage के अंदर सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट activity content को ऑप्टिमाइज़ करना होता है | इसमें आपको ये देखना होता है की आपका content यूजर तथा google के according ऑप्टिमाइज़ है या नहीं ? आपके content का आपके यूजर के लिया हेल्पफुल होना बहुत जरुरी होता है

जैसे : आपका content proper ontopic होना chahiye, छोटे छोटे पैराग्राफ तथा lines में content आपके user के readibility को आसान कर देते है | आपका content proper heading, subheading में होना चाहिए | अच्छे अच्छे infographic तथा images आपके content को काफी ज्यादा attractivea बना देते है इसलिए आपके content का ऑप्टिमाइज़ होना बेहद ही जरुरी हो जाता है | साथ ही साथ internal तथा external linking करने से आपको search engine optimization में भी हेल्प मिलेगी |

Keyword Optimization – keyword optimization के अंतर्गत Keyword Research और Keyword Placement आता है | आप जिस भी keyword पर वेब content लिख रहे है उसका well researched होना बहुत जरुरी है |

Keyword research से आपको specific search data पता चलता है कि जिससे ये पता लग जाता है कि :

  • Visiter क्या (कीवर्ड) सर्च कर रहे है ?
  • कितने लोग उस particular keyword को search कर रहे है ?
  • वे लोग किस format में information search कर रहे है ?

Keyword research करने से आपको पता चलता है की कौनसे कीवर्ड पर कितना traffic है और किस keyword पर काम करना ठीक रहेगा किस पर नहीं |

keyword Placements – Keyword Placements के अंतर्गत हमे keywords आर्टिकल में कहाँ कहाँ place करनी है ये पता चलता है जैसे : Title, Description, heading, In content first 100 words

Meta Tags Optimization

TITLE tag – अपने page या आर्टिकल के title में keyword जरुर include करे |

Heading tags (H1, H2, H3, etc.) – अपने heading tags में आपको primary तथा secondary keywords को जरुर उसे करना चाहिए इससे आपके seo में काफी हेल्प मिल सकती है |

Meta Description – Meta Description आपके article या page का summary होता है जिससे google तथा readers को ये idea लग जाता है की page बारे में है इसलिए आप मेटा description में अपने टारगेट keywords को use कर सकते है |

First 100 words – First पैराग्राफ में आपको keywords उसे करना चाहिए ये google के लिए एक सिग्नल का काम करता है की आपका आर्टिकल किस बारे में है इसलिए आप अपने First 100 words में कीवर्ड इस्तेमाल जरुर करें |

Image Optimization – जब भी हम कोई इमेज वेबसाइट पर अपलोड करते है तो उसके साइज़ को हमे कॉम्प्रेस करके ही डालना चाहिए क्योकि बिना कॉम्प्रेस किये इमेज का heavy होता है जिससे आपके वेबसाइट की loading स्पीड बढ़ जाएगी जिस कारन आपके SEO पर negetive impact पर सकता है |

Google Bot images को read नहीं कर पाते है इसलिए आपको अपने image के नाम में Alt tag वाले आप्शन में keywords का use करना चाहिए |

2. Technical SEO –

Technical SEO के अंतर्गत कुछ technical optimization आते है जिसका वेबसाइट के SEO पर असर पड़ता है तो उसे ऑप्टिमाइज़ करना अतिआवश्यक है |

Site Speed : Website की speed किसी भी वेबसाइट के SEO के लिए सबसे जरुरी activity में होता है क्योकि slow website loading speed के कारन user आपके वेबसाइट के open होने से पहले ही back Button दबाकर वापस चला जाता है जिससे वेबसाइट के SEO पर इसका bahut बेकार असर पड़ता है | वेबसाइट loading स्पीड ज्यादा होने के कई कारन हो सकते है जैसे : images का ऑप्टिमाइज़ न होना, html, CSS, javascript etc. code का ऑप्टिमाइज़ न होना, useless fuction का वेबसाइट या ब्लॉग में इस्तेमाल होना etc.

Mobilefriendliness : आपके वेबसाइट का मोबाइल frinedly होने बहुत बहुत बहुत ज्यादा important है | Google ऐसी websites जो Mobile friendly नहीं है उसे काफी कम index करता है जिसक सीधा असर SEO पर पड़ता है |

Indexing & Crawlability – Technical SEO में कई बार हमारी साईट में इंडेक्सिंग तथा crawling problem को solve करना होता है | कई बार robots.txt file, canonical issues, coding error etc कारणों से वेबसाइट की crawling फिर Indexing बंद जाती है जिसका मतलब SEO में यह हुआ की किसी asthma के patient को oxygen मिलना बंद हो गया हो | crawling & Indexing के बिना SEO की कल्पना नही की जा सकती है |

Schema Structure Data – यह SEO के Advance activity में से एक में आता है | Schema markup डाटा के द्वारा हम कई सारी जानकारी google यानि सर्च इंजन को देते है जैसे :

Content Type, Person, Event, organization, review etc. की इनफार्मेशन Google को देते है जिससे हमे रैंकिंग में काफी help मिलती है |

3. Offpage SEO –

रैंकिंग के लिए ऐसी activities जो खुद के websites पर न करके किसी दुसरे के websites पर करते है | ऐसा करके दरअसल हम अपने वेबसाइट के लिए authority बढ़ाते है जिसका benefits हमे रैंकिंग के रूप में मिलता है |

Offpage को 3 भागों में समझा जा सकता है :

  1. Link building
  2. Social Sharing
  3. Local Citation

Link Building :

अब बात आती है ऐसी कौनसी activity है जो offpage link building के अन्दर की जाती है ? जवाब है ढेर सारी ऐसी activity जिसके द्वारा हम अपने वेबसाइट को किसी और के वेबसाइट पर promote करते है तथा link build करते है | Offpage को link building practice के नाम से भी जाना जाता है |

Offpage Link Building करने का सही तरीका क्या है ?

वैसे तो offpage activity काफी बड़ी है जिसे मैं एक seprate article में फिर कभी cover करूंगा तथा step by step offpage कैसे करना है बताऊंगा लेकिन अभी इस आर्टिकल के लिए मैं offpage (link building) करने का सही तरीका short में समझाने की कोशिश करूंगा |

ऐसा नहीं है की offpage seo की activity हर type के business तथा ब्लॉग के लिए same ही रहेगी | Actually ये एक्टिविटीज niche to niche change होती रहती है | offpage करते समय 2 बातों पर ध्यान देना चाहिए :

  1. Relevancy – आप जिस category के लिए SEO कर रहे है आपके link building की activities उससे related होना चाहिए |
  2. Quality – आप जिस website पर link building करने जा रहे है वो अच्छी websites हो spam न करती हो | अगर अपने spam वेबसाइट पर link building की तो आपके वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ने की जगह घाट भी सकती है |
    इसलिए हमेशा अच्छी sites पर ही offpage activity करे |
कुछ LINK BUILDING ACTIVITIES निम्न websites पर की जाती है :

GUEST POST SITES

QUESTION & ANSWER SITES

BLOG POSTING SITES

DOCUMENT SHARING SITES (IMAGE, INFOGRAPHICS, PDF, E-BOOK ETC)

SOCIAL SHARING SITES

VIDEO SUBMISSION SITES

SOCIAL BOOKMARKING SITES

FORUMS SUBMISSION SITES

Social Sharing :

Social Media Offpage का एक प्रमुख activity के साथ-साथ एक game-changer भी हो सकता है | आज के समय मैं अगर आप अपने ब्लॉग , business, या किसी भी websites को popular बनाना चाहते हो तो ये काम सोशल मीडिया के बिना मुमकिन नहीं है | सोशल मीडिया के presence से आपके business को grow करने के साथ-साथ link building करने का भी काफी opportunity मिलता है |

अभी के समय में प्रमुख सोशल शेयरिंग sites : Instagram, Facebook, Linkedin, Twitter, snapchat तथा quora जहाँ visiters घंटों समय बिताते है |

Local Citation :

local citation basically लोकल business का ऑनलाइन presence का होना कहलाता है जिसमे कम से कम local business का नाम , पता तथा मोबाइल नंबर हो |

इसको locally promote करना ही local SEO कहलाता है | Citation users को आस पास के local business की इनफार्मेशन देता है | LOCAL CITATION के लिए आप google my business , फेसबुक तथा APPLE Maps पर जाकर registration कर सकते है |

Hope ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा | SEO से related अगर आपकी कोई doubt है तो आप कमेंट करके पूछ सकते है |
थैंक यू !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top